गुजरातचुनावी महासमरदिल्लीलाइफस्टाइलशिक्षा
Trending

प्रधानमंत्री के सर्टिफिकेट व योग्यता पर आप ने उठाया सवाल

क्या फर्जी है प्रधानमंत्री का सर्टिफिकेट : AAP

नई दिल्ली।। 2024 लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस नेता राहुल गांधी की सदस्यता रद्द किए जाने के बाद खुद को 2024 लोकसभा चुनाव की दौड़ में खुद को सुरक्षित मान रही केंद्र की भाजपा सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर है।

एक तरफ जहां राहुल गांधी की सदस्यता रद्द किए जाने के मामले को लेकर कांग्रेस सहित सभी विपक्षी पार्टियां केंद्र सरकार तथा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को घेरने में लगी है। तो वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सर्टिफिकेट विवाद को आम आदमी पार्टी लोकसभा चुनाव से पहले भुनाने की कोशिश में जुट गई है।

प्रधानमंत्री मोदी के डिग्री के विषय में इतना रहस्य क्यों

दिल्ली सरकार में मंत्री सौरभ भारद्वाज ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस की और डिग्री को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। सौरभ भारद्वाज ने अपने बयान में कहा है कि क्या ऐसा व्यक्ति जो नैतिक तौर पर इतना संकीर्ण हो, उन्होंने अपनी नकली डिग्री बना रखी है। क्या ऐसे व्यक्ति को प्रधानमंत्री, सांसद, विधायक मंत्री होना चाहिए?

उन्होंने कहा कि पिछले कई दिनों से एक बहस देश में चल रही है। प्रधानमंत्री मोदी के डिग्री के विषय में इतना रहस्य क्यों बना है? डिग्री और योग्यता रहस्य नहीं हो सकती है। आप उसे लेकर घर बैठे, असली नकली है या नहीं, किसी से लेना-देना नहीं, लेकिन जैसे ही आप कोई दावा करते हैं तो उस पर जांच होना स्वाभाविक है।

डिग्री दिखाने पर जांच की प्रक्रिया स्वतः

मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि डिग्री दिखाने पर जांच की प्रक्रिया स्वतः पूर्ण हो जाएगी। एक सामान्य कंपनी के एचआर के पास इतनी क्षमता है कि वह कंपनी के किसी भी कर्मचारी की डिग्री की जांच कर सकता है। ऐसे में प्रधानमंत्री की डिग्री पर इतनी चर्चा क्यों?

इस पर बहस क्यों इतना रहस्य दिल्ली और गुजरात यूनिवर्सिटी ने बना कर रखा है ? रिकॉर्ड नहीं दिखाएंगे तो माना जा सकता है कि इसमें कुछ तो रहस्य है। देश को प्रधानमंत्री मोदी को सच बताना चाहिए, नहीं बताने से आशंका है।

‘पीएम के लिए किसी शैक्षिक योग्यता की नहीं लेकिन पारदर्शिता आवश्यक’

आप नेता ने कहा, “पीएम बनने के लिए कोई शैक्षिक योग्यता अनिवार्य नहीं है। सवाल शैक्षिक योग्यता का नहीं है, बल्कि पारदर्शिता का है। क्या नैतिक अधमता का सवाल तो नहीं आ गया आपमें।

अगर किसी के पास डिग्री नहीं है और वो कह रहा कि उसके पास पोस्ट ग्रेजुएट डिग्री है तो सवाल नैतिक अधमता का आ जाता है। पीएम झूठ बोल रहे हैं कि नाली पर बैठकर चाय बनाई। एक जगह पीएम ने कहा कि क्लाइमेट चेंज कुछ नहीं, हर साल सारी दुनिया के देश चिंता करते हैं, कोई पढ़ा-लिखा आदमी ऐसी बात नहीं करेगा, 5वीं के बच्चे को भी ये पढ़ाया जाता है. A+B = 2 कैसे हो सकता है?”

‘दिल्ली के सीएम अपने मास्टरों व सहपाठियों के नाम बता देंगे’

दिल्ली के मंत्री सौरभ भारद्वाज ने कहा कि जब आप किसी से कुछ सुन लेते हैं, ये बातें जब प्रधानमंत्री करते हैं तो लोगों के मन में सवाल आता है कि उन्होने अपनी पढ़ाई कहां से की है? जानकारी रोकने की कोशिश हो रही है तो यह एक रहस्य बनता जा रहा है।

उन्होंने आगे कहा कि यदि दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से सवाल किया जाएगा तो वह जरूर बता देंगे कि उन्होने आईआईटी से पढ़ाई की है। सीएम केजरीवाल अपने 5 मास्टरों के नाम के साथ 15 सहपाठियों के नाम और कॉलेज की कैंटीन बता देंगे। हम सभी के दोस्त सोशल मीडिया पर जुड़े हैं। आरटीआई से आईआईटी खड़गपुर से मॉर्कशीट लें। सवाल खड़े हो रहे हैं।

अब इस रहस्य से पर्दा उठना चाहिए। प्रधानमंत्री के सर्टिफिकेट व उनकी योग्यता पूरे देश को जानना चाहिए। भाजपा एक दिन हमारे सारे सवालों का जवाब दे, फिर एक्साइज पर चर्चा कर लेंगे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close